Ultimate magazine theme for WordPress.

हाथरस कांड : महिला वकीलों की मांग से दरिंदों में आया खौफ !

128

हाथरस कांड को लेकर इलाहाबाद हाई कोर्ट पर जल्द फैसला सुनाने का आया दबाव. जैसा कि हम जानते हैं कि हाथरस कांड को लेकर सुप्रीम कोर्ट और इलाहाबाद हाईकोर्ट दोनों जगह सुनवाई चल रही है. वहीं सुप्रीम कोर्ट ने यह साफ कर दिया है कि…. इस केस की जांच इलाहाबाद हाईकोर्ट करेगी…. और आवश्यकता पड़ने के बाद सुप्रीम कोर्ट इस पर कोई फैसला सुना सकती है. यानी कि हाथरस कांड को लेकर इस समय असली जिम्मेदारी इलाहाबाद हाईकोर्ट के पास है …… वहीं सुप्रीम कोर्ट इस वक्त सीबीआई जांच पर भी नजर रखे हुए है.
ऐसे में सूत्रों के हवाले से खबर आई है कि कुछ महिला वकीलें ….. फिर से इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका डालने की तैयारी कर रही हैं . उनकी मांग है कि हाथरस कांड की सुनवाई जल्द से जल्द पूरी हो और दरिंदों को जल्द से जल्द कड़ी से कड़ी सजा मिले. सूत्रों के अनुसार याचिका में कहा गया है कि सुनवाई के कारण इस वक्त पीड़ित परिवार काफी कष्ट में है…. और सुरक्षा बढ़ाने के बावजूद वे खुद को दबाब में महसूस कर रहे हैं. इसलिए महिला वकीलों ने मांग की है कि पीड़ित परिवार को उत्तर प्रदेश से बाहर …..किसी अन्य राज्य में रहने-सहने के लिए स्थान प्रदान कराया जाए….. ताकि वे लोग खुलकर जी सकें. याचिका में यह भी कहा गया है कि किसी भी प्रदेश में पुलिस हमेशा के लिए किसी को सुरक्षा नहीं दे सकती…. इसलिए बेहतर यही होगा कि कोर्ट जल्द से जल्द इस मामले में फैसला सुनाये. महिला वकीलों ने यह भी कहा कि सुनवाई में देरी होने होने की वजह से दरिंदों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं …वहीं जिस तरह से सीबीआई जांच में मामला उलझता नजर आ रहा है …..उससे दरिंदों को अंदर से यकीन हो रहा होगा कि इतने संगीन जुर्म करने के बाद भी वे बच जाएंगे….जो एक तरीके से कानून को धोखा देने के समान है . इसलिए याचिका में मांग की गयी है की इलाहाबाद हाई कोर्ट ….हाथरस कांड में कानून की रक्षा के लिए और ऐसे दरिंदों के हौसले को पस्त करने के लिए ….उन्हें कड़ी से कड़ी सजा सुनाए.
इस तरह हम यह कह सकते हैं कि महिला वकीलों की मांग से ….इलाहाबाद हाई कोर्ट इस मामले में जल्द कार्रवाई करने का फैसला कर सकती है . वैसे भी इस केस को लेकर इलाहाबाद हाई कोर्ट काफी दबाव में है…वहीं सुप्रीम कोर्ट की भी इस पर पैनी नजर है . इसलिए कोर्ट भी यही चाहेगी कि जल्द से जल्द दरिंदों को सजा सुना दी जाए….. ताकि जनता के बीच में न्यायपालिका को लेकर भरोसा बरकरार रहे….वहीं दरिंदों के मन में भी खौफ पैदा हो . ऐसे में देखना यह है कि कोर्ट इस मामले में कब फैसला सुनाती है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.