Ultimate magazine theme for WordPress.

हाथरस सहित देश की सभी बेटियों के लिए मायावती गंभीर

220

हाथरस कांड ने देश को पूरी तरह से झकझोर दिया और दुनिया भी यह जान गई कि भारत में दलितों से कितना ज्यादा भेदभाव होता है. वैसे दुनिया तो यह पहले से ही जानती थी कि भारत में धार्मिक भेदभाव होता है…. लेकिन एक महिला के साथ हुई दरिंदगी में भी जातिगत भेदभाव होगा यह किसी ने नहीं सोचा था. दरअसल हाथरस कांड का चर्चा में आने की दो वजह है ….पहला तो यह कि एक 19 वर्षीय लड़की के साथ दरिंदों ने गैंग रेप कर उसके हाथ,कमर को तोड़ दिया ….साथ ही उसके जीभ को काट दिया….जिससे उसकी मौत हो गयी. लेकिन दरिंदों के बाद पुलिस ने भी पीड़ित परिवार के साथ नाइंसाफी कर पीड़िता के लाश को खुद जला दिया. जिससे जनता दरिंदों के साथ-साथ पुलिस पर भी भड़क गयी. वैसे एक सच्चाई यह भी है कि सिर्फ हाथरस से नहीं बल्कि भारत के कोने कोने में दलित बेटियों पर अत्याचार हो रहा है….जिसकी वजह से अब मायावती ने भाजपा के साथ-साथ कांग्रेस के खिलाफ भी जोरदार हमला बोला है. आपको बता दें कि हाथरस पर सियासत के बीच बसपा प्रमुख मायावती ने योगी सरकार के साथ ही कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा है. मायावती ने कहा की सिर्फ यूपी ही नहीं राजस्थान में निर्दोषों की हत्या और दलित और महिलाओं का उत्पीड़न हो रहा है . उन्होंने साफ-साफ कहा कि सिर्फ UP ही नहीं राजस्थान में भी जंगलराज है. बसपा की मुखिया ने कहा हाथरस में पीड़िता से मिलने वाले कांग्रेस के नेता राजस्थान की घटना पर शांत हैं….क्योंकि वहां इनकी अपनी सरकार है, इसके कारण ही चुप हैं. उन्होंने कहा कि राजस्थान में हाथरस कांड के साथ दो बालिकाओं के साथ दुष्कर्म की घटना हुई थी, लेकिन वहां की कांग्रेस सरकार तथा उनके बड़े नेता उस पर कुछ भी बोल नहीं रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह तो बेहद ही शर्मनाक और अति-चिंताजनक है. मायावती ने कहा की राजस्थान में कांग्रेसी नेता अपनी सरकार पर शिकंजा कसने की बजाय खामोश हैं. इससे यह लगता है कि यूपी में अभी तक जिन भी पीड़ितों से ये मिले हैं तो यह केवल इनकी वोट की राजनीति है और कुछ भी नहीं. उन्होंने कहा कि जनता को ऐसी ड्रामेबाजियों से सर्तक रहने की जरूरत है. इस तरह मायावती ने साफ साफ कहा कि देश की बेटी चाहे जिस भी जाती या प्रदेश की हो उसे सुरक्षा देना सरकार की जिम्मेदारी है. इसके साथ ही अगर किसी भी जाति धर्म के बेटी के साथ कोई अत्याचार होता है तो …….किसी भी सरकार को दलगत राजनीति से ऊपर उठकर दरिंदों को कड़ी से कड़ी सजा दिलानी चाहिए….. जिससे कि जनता का भरोसा सरकार पर बना रहे. सीधे शब्दों में कहें तो मायावती ने हाथरस के पीड़िता के साथ सभी पीड़ित बेटियों के लिए न्याय की मांग की है….जिससे उम्मीद है की अब अन्याय सहने वाली सभी बेटियों को न्याय मिल सकेगा .

Leave A Reply

Your email address will not be published.