Ultimate magazine theme for WordPress.

Another Pakistan Headache: Indian Army to buy American howitzer ammo

136

जम्मू-कश्मीर के कारगिल-द्रास सेक्टर में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध में मिली जीत की याद में हर साल 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस मनाया जाता है. इस दिन ऑपरेशन विजय के तहत भारतीय सैनिकों ने पाकिस्तानी घुसपैठियों द्वारा कब्जा की गई चौकियों को सफलतापूर्वक वापस ले लिया था.

दरअसल,थल सेनाध्यक्ष जनरल विपिन रावत ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि पाकिस्तान फिर से कारगिल जैसी गलती नहीं दोहराएगा. क्योंकि उसने पिछली बार ऐसा करने का परिणाम देखा है.यानि की थल सेनाध्यक्ष जनरल विपिन रावत साफ तौर पर पाकिस्तान को चेतावनी दी है.

ऐसे में जनरल विपिन रावत ने कहा कि ऐसा कोई भी क्षेत्र नहीं है जिसे निर्वासित छोड़ दिया गया हो. मुझे नहीं लगता कि पाकिस्तान फिर से ऐसा करने की हिम्मत करेगा क्योंकि उसने पिछली बार ऐसा करने पर परिणाम देखा है.

बता दे की 20 साल पहले 26 जुलाई 1999 को भारतीय सेना ने पाकिस्तान के खिलाफ कारगिल युद्ध में विजय हासिल की थी. इसलिए हर साल 26 जुलाई को ‘कारगिल विजय दिवस’ के रूप में मनाया जाता है. कारगिल युद्ध 3 मई 1999 को शुरू हुआ था और अंत 26 जुलाई 1999 को करीब 3 महीने बाद हुआ.

इस युद्ध में भारतीय सेना के कुल 527 सैनिक शहीद हुए थे.1363 लोग घायल हुए थे. इस युद्ध को हर भारतवासी गर्व के साथ हर साल याद करता है. आगामी 26 जुलाई को पूरा देश कारगिल विजय दिवस मनाएगा.

Leave A Reply

Your email address will not be published.