Ultimate magazine theme for WordPress.

Shivsena ने Congress को कहीं का नही छोड़ा – By RR

134

लोकसभा चुनाव में परचम लहराने के बाद भाजपा-शिवसेना काफी उत्साहित नजर आ रही है. वहीँ शिवसेना ने एक ऐसी बात बोल दी है…जो कांग्रेस को सुई की तरह चुभ सकता है. दरअसल कांग्रेस तो वैसे ही अपने हार का गम मना रहा है. कई लोगों ने तो राहुल गाँधी के काबिलियत पर भी ऊँगली उठाना शुरू कर दिया है. वहीँ शिवसेना की बातों से लग रहा है….मोदी को अगले कई लोकसभा चुनावों तक विपक्ष से कोई चुनौती नहीं मिल सकता. आपको बता दें की बीजेपी नीत एनडीए को लोकसभा चुनाव मतगणना में प्रचंड बहुमत मिलने के बाद शिवसेना ने… प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा की और कहा कि कोई भी अगले 25 वर्षों तक उन्हें चुनौती नहीं दे पाएगा. संजय राउत ने कहा कि जनता ने उन विपक्षी दलों को करारा जवाब दिया है….जो मोदी के खिलाफ राफेल लड़ाकू विमान सौदे जैसे मुद्दों को लेकर ‘भ्रम का एक वातावरण’ बनाने का प्रयास कर रहे थे. हालाँकि उद्धव ठाकरे नीत शिवसेना पिछले पांच वर्ष के दौरान अक्सर बीजेपी की आलोचना करती रही….लेकिन लोकसभा चुनाव में वह साथ में मैदान में उतरी. उन्होंने कहा की पूरा देश मोदीमय हो गया है. राउत ने कहा की हमें यह सच्चाई स्वीकार करनी पड़ेगी कि कोई भी मोदी का मुकाबला नहीं कर पाएगा. शिवसेना ने कहा कि बीजेपी नीत एनडीए राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में भी अच्छा प्रदर्शन किया… जहां कांग्रेस ने पिछले वर्ष हुए विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज की थी. पार्टी बोली की देश ने फिर से अगले पांच वर्ष के लिए नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भरोसा जताया है. वह अगले पांच वर्षों में देश को और आगे ले जाएंगे. वहीँ राउत ने कहा कि लोकतंत्र में विपक्षी दल जरूरी होते हैं , लेकिन उन्हें आत्ममंथन करना चाहिए कि लोगों ने उन्हें क्यों खारिज कर दिया. जैसा की हम जानते हैं की लोकसभा चुनाव पूरी तरह से मोदीमय रहा. वैसे पूरे चुनाव के दौरान पीएम मोदी आत्मविश्वास से लबरेज दिखे. ये आत्मविश्वास शायद इसलिए दिखा क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हवा का मिजाज पहले ही भांप लिया था. अपने तीन महीने के अथक चुनाव प्रचार में पीएम को एहसास हो गया था कि देश की जनता चाहती क्या है. PM जानते हैं की इस बार आंकड़े 300 के पार जाएगा. पीएम अपने आकलन में विश्वस्त जौहरी की तरह दिखे. उनका अनुमान पूरा सही निकला. जब वो आए तो महानायक की तरह आए. वैसे इस जीत के बाद जहाँ मोदी फिर से देश पर अपना सर्वस्व लुटाने को तैयार दिखे…वहीँ शिवसेना भी भाजपा के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने को तैयार दिख रही है. इस लोकसभा चुनाव में जीत के साथ ही भाजपा-शिवसेना की दोस्ती और गाढ़ी हो गयी है…और यह दोस्ती अभी कई चुनावों तक बरक़रार रहने की संभावना है. फ़िलहाल शिवसेना ने मोदी को 25 वर्षों तक अजेय बताकर कांग्रेस के कटे पर नमक छिड़कने का काम किया है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.